ब्रेक्जिट में विलंब के कारण ब्रिटेन को यूरोपीय चुनाव में लेना पड़ेगा हिस्सा

By Independent Mail | Last Updated: May 8 2019 9:51PM
ब्रेक्जिट में विलंब के कारण ब्रिटेन को यूरोपीय चुनाव में लेना पड़ेगा हिस्सा

सरकार को जल्द ही समझौता होने की उम्मीद

एजेंसी, लंदन। प्रधानमंत्री थेरेसा मे के डिप्टी ने डेविड लिडिंगटन ने कहा है कि ब्रेक्सिट प्रक्रिया में देरी होने के कारण ब्रिटेन को यूरोपीय संसद के चुनाव में शामिल होना पड़ेगा। हालांकि सरकार को उम्मीद है कि तब तक ब्रेक्सिट समझौता हो जाएगा और ब्रिटेन ईयू के चुनाव में हिस्सा लेने से बच जाएगा।यूरोपीय संसद के चुनाव के लिए मतदान 23 से 26 मई के बीच होने हैं। थेरेसा मे ने कहा है कि अगर ब्रिटिश सांसद ब्रेक्सिट योजना पर सहमत हो जाते हैं तो ब्रिटेन को इस चुनाव में शामिल नहीं होना पड़ेगा। ब्रिटेन को 29 मार्च को यूरोपीय संघ से अलग होना था, लेकिन संसद में उनके द्वारा पेश की गई किसी भी योजना को मंजूरी नहीं मिलने के कारण ईयू ने ब्रेक्सिट की समयसीमा बढ़ाकर 31 अक्टूबर कर दी।

23 मई तक ईयू से अलग होना जरूरी

अगर ब्रिटेन 23 मई तक ईयू से अलग नहीं होता है तो उसे कानूनन ईयू में होने वाले चुनाव में शामिल होना पड़ेगा और एमईपी (मेंबर ऑफ यूरोपियन पार्लियामेंट) सदस्यों को ब्रसेल्स भेजना पड़ेगा। ईयू चुनाव के लिए पंजीकरण की आखिरी तारीख मंगलवार थी। बीबीसी के मुताबिक, डेविड ने कहा, अफसोस की बात यह है कि इस तारीख से पहले उस प्रक्रिया को पूरा करना संभव नहीं है, इसलिए ब्रिटेन को कानूनन इसमें हिस्सा लेना पड़ेगा। उन्होंने कहा, हालांकि, सरकार ब्रेक्सिट में देरी को जितना संभव हो कम करने की कोशिश करेगी।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved