ज्यादा तनाव में रहती है दो बच्चों वाली कामकाजी मां

By Independent Mail | Last Updated: Jan 30 2019 8:25PM
ज्यादा तनाव में रहती है दो बच्चों वाली कामकाजी मां

हाल ही में हुई एक नई स्टडी में यह बात सामने आई है कि अगर आप एक फुल टाइम वर्किंग वुमन हैं और आपके दो बच्चे भी हैं तो आपका स्ट्रेस लेवल दूसरों की तुलना में काफी ज्यादा होगा। यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर और यूनिवर्सिटी ऑफ एसेक्स ने मिलकर यह स्टडी की, जिसमें करीब छह हजार लोगों को शामिल किया गया और उनकी जांच की गई।

घरों में जाकर जुटाई जानकारी

ब्रिटिश जर्नल सोशियोलॉजी में प्रकाशित द यूके हाउसहोल्ड लॉन्जिट्यूडिनल स्टडी में इंग्लैंड के अलग-अलग घरों से जाकर जानकारी हासिल कर उसे इस स्टडी के लिए इकट्ठा किया गया। इस स्टडी के दौरान लोगों के वर्किंग लाइफ, हॉर्मोन्स, ब्लड प्रेशर और ऐसी तमाम चीजों की जांच की गई, जिससे स्ट्रेस यानी तनाव बढ़ने की आशंका होती है।

स्ट्रेस लेवल 40 प्रतिशत अधिक

स्टडी के नतीजे बताते हैं कि वैसी महिलाएं जिनका फुल टाइम जॉब है और साथ में दो बच्चे भी हैं, उनमें क्रॉनिक स्ट्रेस उन महिलाओं की तुलना में 40 फीसद अधिक होता है जिनका फुल टाइम जॉब तो है लेकिन कोई बच्चे नहीं हैं। क्रॉनिक स्ट्रेस वह होता है जब कोई व्यक्ति लंबे वक्त तक स्ट्रेस यानी तनाव का अनुभव करता है। क्रॉनिक स्ट्रेस के लक्षणों की बात करें तो इसमें एग्जाइटी, डिप्रेशन, बेवजह का सिरदर्द और इन्सॉमनिया यानी नींद न आना शामिल है।

फ्लेक्सिबल वर्किंग से स्ट्रेस कम

दूसरी तरफ, वैसी महिलाएं जिनके 2 बच्चे होने के बाद भी काम के घंटे फ्लेक्सिबल थे, यानी वे घर से काम कर सकें या फिर जब चाहे काम कर सकें, उनमें क्रॉनिक स्ट्रेस का लेवल कम देखा गया। क्रॉनिक स्ट्रेस का लेवल उन पिताओं में भी कम देखा गया, जिनके वर्किंग आॅवर्स फ्लेक्सिबल थे।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved