हिंदू अब मंदिर के लिए और इंतजार नहीं कर सकते: वीएचपी

By Independent Mail | Last Updated: Nov 25 2018 12:46AM
हिंदू अब मंदिर के लिए और इंतजार नहीं कर सकते: वीएचपी

एजेंसी, अयोध्या। अयोध्या का मसला एक बार फिर गर्म है। रविवार को वहां विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) धर्म संसद का आयोजन करने जा रही है, जिसका नाम हुंकार सभा रखा गया है। भक्तमाल बगिया में होने कार्यक्रम का प्रबंधन आरएसएस स्वयं देख रहा है। इससे पहले शनिवार को उसने बयान जारी किया। वीएचपी के संगठन सचिव भोलेंद्र ने कहा कि यह उसकी अाखिरी बैठक होगी। इसके बाद सभाएं या प्रदर्शन नहीं होंगे। न ही किसी को समझाया जाएगा। सीधे मंदिर का निर्माण होगा। उन्होंने कहा, हमने पहले 1950 से 1985 तक 35 साल अदालती फैसले का इंतजार किया। इसके बाद 1985 से 2010 तक का समय हाईकोर्ट को फैसला देने में लग गया। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने त्वरित सुनवाई की अर्जी दो मिनट में ठुकरा दी। दुर्भाग्य है कि 33 साल से रामलला टेंट में हैं। वीएचपी अब और इंतजार नहीं करेगी।

पांच हजार संत और एक लाख कार्यकर्ता होंगे शामिल

वीएचची ने कहा कि अयोध्या में होने जा रही धर्मसभा में पांच हजार संत और 25 हजार कार्यकर्ता एकजुट होंगे। कार्यकर्ताओं के पहुंचने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है। धर्मसभा के लिए संतों का आगमन भी प्रारंभ हो गया है। भोलेंद्र ने कहा कि अब समाज ने मंदिर का मसला अपने हाथों में ले लिया है, जो न तो समाज की परवाह करेगा और न ही अदालत की। उन्होंने कहा कि आस्था के सवाल अदालत में हल नहीं होते।

25 हजार मुस्लिम भी आएंगे

वीएचची ने दावा किया है कि राष्ट्रीय मुस्लिम मंच 25 हजार मुस्लिम नौजवानों को अयोध्या लेकर आएगा। ये सभी वे युवक होंगे जो भगवान राम को अपना पूर्वज मानते हैं और बाबर को विदेशी आक्रमणकारी। ये नौजवान ही मंदिर का निर्माण प्रारंभ करेंगे। भोलेंद्र ने मुस्लिमों से अपील की है कि वे पर्सनल लॉ बोर्ड के बहकावे में न आएं। उन्हें यह समझना होगा कि अयोध्या का हिंदू धर्म में वही दर्जा है, जो इस्लाम में मक्का और मदीना का।

उद्धव ठाकरे अयोध्या पहुंचे

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने बेटे आदित्य के साथ शनिवार को अयोध्या पहुंच चुके हैं। वह रविवार को अयोध्या में राम मंदिर की मांग को लेकर एक बड़ा कार्यक्रम करने वाले हैं। दावा किया जा रहा है कि इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए बड़ी संख्या में शिवसैनिक पहुंचने वाले हैं। हालांकि, उनका यह कार्यक्रम वीएचपी के कार्यक्रम से अलग होगा।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved