2 जनवरी तक महाकाल मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पर रोक, यह है वजह

By Independent Mail | Last Updated: Dec 28 2017 4:12PM
2 जनवरी तक महाकाल मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पर रोक, यह है वजह

इंडिपेंडेंट मेल, उज्जैन. महाकाल मंदिर समिति नव वर्ष को होने वाली भस्म आरती में आने वाले श्रद्धालुओं को अच्छे दर्शन करवाने की तैयारी में जुटी प्रशासन का मकसद सभी को सुलभ दर्शन हों। कम सीट होने और ज्यादा भक्त होने के कारण पहले आओ और पहले पाओ की स्थिति रहेगी।

इधर 24 दिसंबर से 2 जनवरी तक महाकाल मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पर पूर्णत: प्रतिबंध कर दिया गया है। वही 1 जनवरी की सुबह होने वाली भस्मारती की आॅनलाइन बुकिंग भी बंद कर दी गई है। साल 2017 को लोग अलविदा कहने जा रहे है और साल 2018 के स्वागत की तैयारी जोरों से कर रहे है।

हर साल नए वर्ष के आगमन पर देश के बारह ज्योतिलिंर्गों में से एक महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग पर भक्तों की भीड़ आने का अनुमान रहता है। साल के अंतिम दो दिन 30 दिसम्बर और 31 दिसम्बर से ही देश के कोने-कोने से भक्तों के आने का सिलसिला शुरू हो जाता है।

क्योंकि हर कोई चाहता है की नए साल कि शुरूआत बाबा महाकाल के दर्शन से हो ऐसे में देश के कौने कौने से आने वाले श्रद्धालु बारह ज्योतिलिंर्गों में से मात्र महाकाल में होने वाली भस्म आरती के लाभ लेने का प्रयास करते है। महाकाल में होने वाली भस्म आरती की सीट सीमित होती हैं।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved