देवास प्रेस से करेंसी नोट चोरी के मामले में 3 पर गिरी गाज

By Independent Mail | Last Updated: Jan 20 2018 10:14PM
देवास प्रेस से करेंसी नोट चोरी के मामले में 3 पर गिरी गाज

इंडिपेंडेंट मेल,  देवास। बैंक नोट प्रेस के वरिष्ठ पर्यवेक्षक मनोहर वर्मा ने जूते, मोजे व शर्ट में तीन माह से नोट चुराते-चुराते घर व आॅफिस के लॉकर में कुल 90 लाख 59 हजार 300 रुपए चुरा लिए थे। यह नोट 500 व 200 के थे, जो रिजेक्ट थे, इन नोटों में आम जन डिफाल्ट पहचान नहीं सकता था। इसलिए बदमाश ने नोट जूते, मोजे व शर्ट में रखकर चुराए थे। शुक्रवार को पुलिस, सीआईएसफ की टीम ने जूते में नोट की गड्डी रख चुराते बीएनपी से पकड़ा था। सूत्रों के अनुसार इस मामले में दिल्ली से शुक्रवार रात डेढ बजे कॉर्पोरेट की टीम के अधिकारी व शनिवार दिन में कुछ और अधिकारी बीएनपी में पहुंचे हैं। टीम ने आते ही मनोहर वर्मा के साथ काम करने वाले तीन सुपरवाइजर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। बीएनपी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वर्कशॉप, कंट्रोल व प्रिंटिंग में के सुपरवाइजर दीपक मिलन, हरिओम शर्मा व राजमणी लौहार को निलंबित कर दिया है।

 जब्त नोट बैंक नहीं कर रहे हैं जमा

उधर, पुलिस मनोहर शर्मा से जब्त नोटों को बैंक में जमा करने को लेकर परेशान हो रही है। बीएनपी टीआई उमराव सिंह बरामद नोटों को बैंक में जमा कराने शनिवार को बैंक पहुंचे थे लेकिन बैंक ने इसे लेने से मना कर दिया। टीआई का कहना है कि थाने में इतना रुपया नहीं रख सकते हैं, इसलिए राशि जमा करने के लिए पहुंचा हूं, किंतु कोई सहयोग नहीं कर रहा है। मैंने अधिकारियों से चर्चा की है, जल्द नोट जमा हो जाएंगे।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved