महिला टी-20 विश्व कप: सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में होगा सेमीफाइनल मुकाबला

By Independent Mail | Last Updated: Nov 22 2018 11:32PM
महिला टी-20 विश्व कप: सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में होगा सेमीफाइनल मुकाबला
  • फाइनल में जगह बनाने के लिए इंग्लैंड से भिड़ेगा भारत

  • भारत ने ग्रुप मैच के चारों मैच जीते, इंग्लैंड को दो में मिली जीत और एक में शिकस्त

  • 2009 का चैंपियन है इंग्लैंड, भारतीय टीम एक बार भी फाइनल में नहीं पहुंच सकी

  • टीम इंडिया की कमान हरमनप्रीत के कंधों पर, हीथर नाइच संभालेंगी इंग्लैंड की कप्तानी

एजेंसी, एंटिगा। भारतीय महिला क्रिकेट टीम पहली बार टी-20 विश्व कप के फाइनल में जगह बनाने के लिए सेमीफाइनल में इंग्लैंड का सामना करेगी। भारत ने 2010 के बाद से पहली बार टी-20 विश्व कप सेमीफाइनल में जगह बनाई है। अब हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली भारतीय टीम की कोशिश इस मौके को भुनाते हुए पहली बार फाइनल में प्रवेश कर खिताब अपने नाम करने की होगी। भारत ने एक भी बार टी-20 विश्व कप का फाइनल नहीं खेला है और टीम इस बार यह इतिहास रचने के लिए प्रतिबद्ध दिख रही है। वहीं इंग्लैंड 2009 में आयोजित विश्व कप के पहले संस्करण का खिताब अपने नाम कर चुकी है जबकि 2012 और 2014 में दो बार उसे आॅस्ट्रेलिया ने खिताब जीतने से रोक दिया था। भारतीय टीम के प्रदर्शन को देखते हुए लग रहा है कि उसका विजेता बनना संभव भी है। हालांकि बल्लेबाजी में भारत को थोड़ी चिंता है क्योंकि ऊपरी क्रम के अलावा अभी तक चारों मैच में मध्यक्रम और निचला क्रम विफल रहा है। मिताली राज, हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना के अलावा भारत की कोई और बल्लेबाज अपने रंग में नहीं दिखी। जेमिमा रोड्रिगेज ने इन तीनों के अलावा पहले मैच में अच्छी पारी खेली थी, लेकिन उसके बाद वह लय भटक गई।

स्पिनरों पर दारोमदार

अहम मैच से पहले भारत को अपने निचले क्रम और मध्यक्रम को मजबूत करने की जरूरत है। वहीं अगर गेंदबाजी की बात की जाए तो भारत की स्पिन गेंदबाजों ने अभी तक हर टीम की नाक में दम किया है। पूनम यादव, राधा यादव, दीप्ती शर्मा, अनुजा पाटिल ने हर मैच में अपनी फिरकी का दम दिखाया है। भारत का स्पिन आक्रमण इस विश्व कप में टीम का अहम कड़ी जिसके दम पर भारत विश्व विजेता बनने का ख्वाब देख सकता है।

अब तक नहीं चला हीथर नाइट का बल्ला

इंग्लैंड की बात की जाए तो कप्तान हीथर नाइट का बल्ला शांत रहना टीम की सबसे बड़ी चिंता है। वहीं टैमी बेयुमोंट भी बड़ी पारी खेलने में असफल रही हैं। इन दोनों से टीम प्रबंधन को उम्मीद होगी भारत के खिलाफ एक अहम मैच में इनके बल्ले की जंग खत्म हो। हरफनमौला खिलाड़ी नताली स्क्राइबर ने गेंद से तो अच्छा योगदान दिया है, लेकिन उनका बल्ला नहीं चला है। टीम की तीन अहम बल्लेबाजों का ऑउट ऑफ फॉर्म होना इंग्लैंड के लिए चिंता का सबब है। गेंदबाजी में अन्या श्रूबसोले बीते दो मैच में शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन-तीन विकेट अपने नाम किए थे। इंग्लैंड की गेंदबाजी इनके साथ बेयुमोंट पर काफी निर्भर करेगी।

में (संभावित) :

भारत: हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंधाना, मिताली राज, जेमिमा रोड्रिगेज, वेदा कृष्णामूर्ति, दीप्ति शर्मा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), पूनम यादव, राधा यादव, अनुजा पाटिल, एकता बिष्ट, डायलान हेमलता, मानसी जोशी, पूजा वस्त्राकर, अरुंधति रेड्डी।

इंग्लैंड: हीथर नाइट (कप्तान), टैमी बायुमोंट, सोफिया डंकले, सोफी एक्केलस्टोन, टेश फरांट, क्रिस्टी गोर्डन, जैनी गन, डेनियल हेजल, एमी जोंस, नताली स्क्राइवर, अन्या श्रबसोले, लिंसे स्मिथ, फ्रान विल्सन, लॉरेन विनफील्ड, डेनियल व्याट।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved