रेलवे ने पेश की नई तकनीक

By Independent Mail | Last Updated: Jun 28 2018 9:56PM
रेलवे ने पेश की नई तकनीक

इंडिपेंडेंट मेल,पटना। मानसून के दौरान रेल पटरियों पर पानी आ जाने एवं पुलों पर बाढ़ के पानी के भारी दबाव की सूचना अब रेलवे को फ़ौरन मिलेगी। पूर्व मध्य रेल इस बार बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों में पुलों पर एक वाटर लेवलिंग यंत्र लगा रही है । पानी जब उस पुल पर खतरे के निशान के पास पहुंचने वाला होगा तो यह यंत्र एक एसएमएस संबंधित क्षेत्र के इंजीनियर को भेजेगी । इसके उपरांत रेल प्रशासन द्वारा सुरक्षित रेल परिचालन हेतु तत्काल कदम उठाया जायेगा । इसके साथ ही पूरे मानसून दौरान, रेल पटरियों की सुरक्षा हेतु चलाये जाने वाले सामान्य पेट्रोलिंग के साथ ही ‘मानसून पेट्रोलिंग‘ की व्यवस्था की जा रही है जो रात्रि के 11.00 बजे से लेकर सुबह 05.00 बजे तक की जायेगी ।

पूर्व मध्य रेल ने उठाया एहतियाती कदम

मानसून के दौरान होने वाली भारी बारिश के कारण खास कर उत्तर बिहार में कई स्थानों पर रेल पटरियों पर पानी आ जाने एवं कई स्थानों पर पुलों पर बाढ़ के पानी के भारी दबाव के कारण रेल परिचालन बाधित हो जाता है । इसी के मद्देनजर मानसून के दौरान होने वाली परेशानियों से निपटने के लिए पूर्व मध्य रेल कई एहतियाती कदम उठा रहा है ताकि बाढ़ की स्थिति में जब रेल परिचालन बाधित हो तो जल्द से जल्द रेल परिचालन को पुर्नबहाल किया जा सके ।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved