जनता को खुद तय करने होंगे 2019 के मुद्दे

By Independent Mail | Last Updated: Dec 6 2018 2:36PM
जनता को खुद तय करने होंगे 2019 के मुद्दे

2014 के नारे 2019 से पहले ही दामन से लिपट जाएंगे, यह न तो नरेन्द्र मोदी ने सोचा होगा, न ही 2014 में पहली बार खुलकर राजनीतिक में सक्रिय हुए सरसंघ चालक मोहन भागवत ने, न ही भ्रष्टाचार के आरोपों को झेलते हुए सत्ता गंवाने वाली कांग्रेस ने और न ही उस जनता ने जिसके जनादेश ने भारतीय राजनीति को ही कुछ ऐसा मथ दिया कि अब पारंपरिक राजनीति की लीक पर लौटना किसी के लिए संभव ही नहीं है। 2013-14 में कोई मुद्दा छूटा नहीं था। महिला, दलित, मुस्लिम, महंगाई, किसान, मजदूर, आतंकवाद, कश्मीर, पाकिस्तान, चीन, डॉलर, सीबीआई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार की बात करती थी भाजपा और उसकी अगली लाइन होती थी, अबकी बार मोदी सरकार। अब जबकि आम चुनाव में केवल आठ महीने बचे हैं, तो इन सभी मुद्दों पर बात नहीं हो रही है।

अब भाजपा अजेय भारत, अटल भारत की बात करने लगी है। यानी, दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश को चलाने, संभालने या कहें कि सत्ता भोगने को तैयार भाजपा के पास कोई विजन नहीं है। क्या यह भारत की त्रासदी है जिसका जिक्र महात्मा गांधी यह कहते-सोचते मार डाले गये कि यह आजादी नहीं, बल्कि सिर्फ अंग्रेजों से सत्ता का हस्तांतरण है। शायद इसीलिए जनता की किस्मत में केवल हताश होना लिखा है। आपातकाल के बाद इंंदिरा गांधी की सत्ता को जनता ने यह सोचकर पलट दिया था कि जब जनता सरकार आएगी, तो उसकी सभी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। जनता सरकार को 54.43 फीसद वोट मिले। 295 सीटों पर जीत हासिल की, जबकि इंदिरा गांधी को सिर्फ 154 सीटों पर जीत और 28.41 प्रतिशत वोट मिले। फिर, ढाई साल के भीतर ही जनता के सपने कुछ इस तरह चूर हुए कि 1980 के चुनाव में इंदिरा गांधी की वापसी ही नहीं हुई, बल्कि उनकी जीत भी ऐतिहासिक रही। इंदिरा गांधी को यह जीत जनता सरकार की विफलता के कारण मिली थी। जनता ने मनमोहन सरकार को भी निर्णायक तरीके से हराया, मोदी को पूर्ण बहुमत दिया लेकिन उसकी कसौटियों पर यह सरकार भी खरी नहीं उतर रही है। अब समझना यह भी होगा कि 2019 का चुनाव या उसके बाद के हालात पारंपरिक राजनीति वाले नहीं होंगे। अगर भाजपा हार गयी, तो चीजें बदलेंगी, जीत गयी तो भी। सो, अब अगले चुनाव के लिए उचित नारा जनता को ही देना होगा।

वरिष्ठ पत्रकार पुण्यप्रसून वाजपेयी के ब्लॉग से...

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved