CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लगाया जा सकेगा NSA, SC ने खारिज की याचिका

By Independent Mail | Last Updated: Jan 24 2020 8:24PM
CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लगाया जा सकेगा NSA, SC ने खारिज की याचिका

 नई दिल्ली, एजेंसी :सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) विरोधी प्रदर्शनों के बीच शुक्रवार को कुछ राज्यों और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लागू राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका ) को चुनौती देने वाली याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया। वकील एम. एल. शर्मा की याचिका पर शीर्ष अदालत ने कहा कि वह अधिकारियों के हाथ नहीं बांध सकती।  रासुका   के तहत पुलिस किसी भी व्यक्ति को बगैर किसी मुकदमे के 12 महीने तक हिरासत में रख सकती है.

जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस इंदिरा बनर्जी की पीठ ने कहा कि ऐसे समय में जब विरोध प्रदर्शन चल रहे हैं, अधिकारियों के हाथ कैसे बांधे जा सकते हैं। जस्टिस मिश्रा ने कहा, 'यह कानून-व्यवस्था का मुद्दा है। हम कैसे हस्तक्षेप कर सकते हैं?' अदालत ने कहा कि यह सरकार को एनएसए लागू करने से रोकने के लिए एक सामान्य निर्देश नहीं पारित कर सकती है, लेकिन वह अधिकारियों द्वारा एनएसए के दुरुपयोग के व्यक्तिगत मामलों में निश्चित रूप से कुछ कर सकती है अगर उनके संज्ञान में लाया जाए।
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 10 जनवरी को रासुका की अवधि 19 जनवरी से तीन महीने के लिए बढ़ा दी थी. इस कानून के तहत दिल्ली पुलिस को किसी व्यक्ति को हिरासत में लेने का अधिकार प्राप्त है.
 
 
 
 
 
 
 
 
 
image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved