मोदी फिर जीते तो देश में शायद चुनाव न हों: गहलोत

By Independent Mail | Last Updated: Mar 20 2019 11:51AM
मोदी फिर जीते तो देश में शायद चुनाव न हों: गहलोत

एजेंसी, नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल में 'लोकतंत्र एवं संविधान' को खतरा होने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि अगर जनता ने मोदी को फिर से सत्ता सौंपी, तो हो सकता है कि हमारे यहां (भारत में) चुनाव न हों या फिर चीन और रूस जैसी स्थिति हो। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि चुनाव जीतने के लिए प्रधानमंत्री किसी भी हद तक जा सकते हैं और वह विरोधियों को निशाना बना रहे हैं। प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए गहलोत ने दावा किया कि मोदी 'मार्केटिंग के मास्टर' हैं और 'अगर वह बॉलीवुड में होते तो वह अपने लटके-झटकों एवं अदाओं से देश तथा दुनिया में अलग छाप छोड़ते। गहलोत ने कहा, सच्चाई हमारे पक्ष में हैं और हमें विश्वास है कि सच्चाई की ही जीत होगी। यह पूछे जाने पर कि अगर कांग्रेस हार गई तो क्या सच्चाई की हार होगी, उन्होंने कहा, अगर जनता उन्हें जिता देती है..., अगर मोदी जी दोबारा जीत जाते हैं तो इस बात की गारंटी नहीं है कि देश में चुनाव होंगे या नहीं। उन्होंने कहा, चुनाव होंगे भी और नहीं भी होंगे...जैसे चीन, रूस में होता है। उल्लेखनीय है कि चीन में एकल पार्टी की व्यवस्था है जबकि रूस में व्लादिमीर पुतिन लंबे समय से राष्ट्रपति के पद पर बने हुए हैं। गहलोत ने दावा किया, उनके दिमाग में क्या है, मुझे लगता है कि अमित शाह को भी नहीं पता है। राजस्थान के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया, लोकतंत्र खतरे में है, संविधान खतरे में है और देश खतरे में है। देश में केवल दो लोग, नरेंद्र मोदी और अमित शाह सरकार चला रहे हैं। गहलोत ने कहा, मोदी जी को राजीव गांधी के बाद स्पष्ट बहुमत मिला था। उनको सोचना था कि जिम्मेदारी बढ़ गई है और उन्हें जिम्मेदारीपूर्ण व्यवहार करना चाहिए था। लेकिन उन्होंने मौका गवां दिया। लोग चार साल पहले कहने लग गए थे कि यह आदमी चुनाव के लिए कुछ भी कर सकता है। युद्ध भी करा सकता है। किसी प्रधानमंत्री के बारे में यह धारण बनना ठीक नहीं है। प्र

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved