कोयला घोटाला: कोयला मंत्रालय के पूर्व सचिव एचसी गुप्ता को तीन साल की जेल

By Independent Mail | Last Updated: Dec 6 2018 2:37PM
कोयला घोटाला: कोयला मंत्रालय के पूर्व सचिव एचसी गुप्ता को तीन साल की जेल
  • सीबीआई की विशेष अदालत ने कुल पांच दोषियों को सुनाई सजा

  • तीन को तीन-तीन साल, जबकि दो को 4-4 साल का कारावास

एजेंसी। जब सजा की बारी आई तो पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता समेत सभी दोषी अदालत में गिड़गिड़ाने लगे। सभी दोषियों ने कोर्ट से कम से कम सजा देने की गुहार लगाई। दोषियों ने कोर्ट से कहा था कि एक लाख 86 हजार करोड़ के नुकसान का अनुमान गलत है, क्योंकि उन्होंने खदान की लीज नहीं दी थी। आज भी कोयला खदान सरकार के पास है। गुप्ता ने कोर्ट से यह भी गुजारिश की कि उन्हें कम से कम सजा दी जाए, क्योंकि वह बीमार रहते हैं और अपने घर मे अकेले कमाने वाले हैं। उनके बच्चे अभी पढ़ाई कर रहे हैं। वहीं, निजी कंपनी विकाश मेटल्स एंड पावर लिमिटेड के प्रमोटर विकाश पटनी ने कोर्ट से अपील की कि उन पर जुर्माना कम से कम लगाया जाए, क्योंकि कंपनी घाटे में चल रही है।

तीन को मिली जमानत

हालांकि, अदालत ने पूर्व केंद्रीय कोयला सचिव एचसी गुप्ता तथा अन्य दो सरकारी कर्मचारियों को जमानत दे दी है। विकास मेटल पॉवर लिमिटेड को कोल ब्लॉक आवंटित किए जाने के मामले में दोषी करार देकर सजा सुनाए गए तीनों सरकारी अधिकारियों को एक लाख रुपये का एक जमानती पेश करना होगा तथा इतनी ही रकम का निजी मुचलका भी देना होगा।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved