नोटबंदी से लगी कालेधन पर लगाम: जेटली

By Independent Mail | Last Updated: Nov 8 2018 7:33PM
नोटबंदी से लगी कालेधन पर लगाम: जेटली

एजेंसीनई दिल्ली। देश में नोटबंदी से कालेधन पर लगाम लगी है, साथ ही कर का दायरा भी बढ़ा है। यह बात केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर कही। उन्होंने कहा, नोटबंदी सरकार के अहम फैसलों की एक कड़ी है। यह काम अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए जरूरी था। अब कर चोरी करना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा, नोटबंदी की लोग यह कहते हुए आलोचना कर रहे हैं कि लगभग सारा कैश बैंकों में वापस आ गया। लेकिन नोटबंदी के सहारे हमारा मकसद सिर्फ नगदी को जब्त करना नहीं था। हम चाह रहे थे कि लोग टैक्स के दायरे में आएं। हमें कैशलेस इकॉनामी से डिजिटल लेन-देन की दुनिया में आना था।

कर संग्रह बढ़ा

जेटली ने कहा कि नोटबंदी से ज्यादा टैक्स रेवेन्यू जमा करने और टैक्स बेस को बढ़ाने में मदद मिल रही है। वित्त वर्ष 2018-19 (31-10-2018) तक जो पर्सनल इनकम टैक्स जमा हुए हैं, वे पिछली बार के मुकाबले 20.2 फीसद ज्यादा हैं। कॉर्पोरेट टैक्स 19.5 फीसद ज्यादा जमा हुआ। इसके अलावा डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन भी 6.6 फीसद हो गया है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद बैंकों की कर्ज देने की ताकत भी बढ़ गई है। काफी सारा पैसा म्यूचुअल फंड में जमा हुआ है।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved