क्रिश्चियन मिशेल को कोर्ट ने सीबीआई की हिरासत में भेजा

By Independent Mail | Last Updated: Dec 6 2018 2:38PM
क्रिश्चियन मिशेल को कोर्ट ने सीबीआई की हिरासत में भेजा

एजेंसी, नई दिल्ली। इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदे में हुए कथित घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को बुधवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया। अदालत ने उसे पांच दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया। बता दें कि मंगलवार की रात उसे दुबई से भारत लाया गया था। अदालत में सीबीआई की तरफ से सरकारी वकील डीपी सिंह पेश हुए। उन्होंने मिशेल को सीबीआई की हिरासत में देने का अनुरोध कोर्ट से किया, ताकि उससे कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों के बारे में पूछताछ की जा सके। अदालत ने सीबीआई के वकील की दलील स्वीकार कर उसे उसकी हिरासत में दे दिया। वहीं, आरोपी मिशेल की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता एल्जो के. जोसेफ पेश हुए। उन्होंने आरोपी को सीबीआई की हिरासत में देने का विरोध किया।

हो सकते हैं कई खुलासे

मिशेल से पूछताछ में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं। वह कई नौकरशाहों और नेताओं के नाम बता सकता है जो इस घोटाले में कथिततौर पर शामिल थे। आरोप है कि अगस्ता वेस्टलैंड से मिशेल को रिश्वत के रूप में 225 करोड़ रुपये मिले थे। ईडी ने कहा था कि यह पैसा और कुछ नहीं, बल्कि कंपनी द्वारा 12 हेलीकॉप्टरों के समझौते को अपने पक्ष में कराने के लिए वास्तविक लेन-देन के नाम पर दी गई रिश्वत थी। मिशेल ने अपनी दुबई की कंपनी ग्लोबल सर्विसेज के जरिए यह धनराशि ली थी। जानकारी के मुताबिक इस डील में कोडवर्ड में कुछ नाम भी लिखे गए थे, जिनके मायने केवल मिशेल ही बता सकता है।

भाजपा को मिल सकता है राजनीतिक लाभ

मिशेल के प्रत्यपर्ण का भाजपा को राजनीतिक लाभ मिल सकता है। राफेल सौदे में कथित भ्रष्टाचार के आरोपों से जूझ रही भाजपा को अब कांग्रेस पर जवाबी हमला करने के लिए मसाला मिल गया है। अब वह राफेल पर उठ रहे सवालों के जवाब मिशेल के जरिये देगी। बता दें कि यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में अगस्ता वेस्टलैंड के साथ 12 हेलिकॉप्टरों का सौदा किया था। इनमें से आठ का इस्तेमाल राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और अन्य वीवीआईपी की उड़ान के लिए किया जाना था, जबकि चार हेलिकॉप्टर एनएसजी के लिए थे। विवाद के बाद इस सौदे को रद्द कर दिया गया था।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved