असम गण परिषद ने तोड़ा एनडीए से नाता

By Independent Mail | Last Updated: Jan 7 2019 11:40PM
असम गण परिषद ने तोड़ा एनडीए से नाता
  • चुनाव से पहले बीजेपी को एक और झटका

एजेंसी, नई दिल्ली। असम की क्षेत्रीय पार्टी असम गण परिषद ने एनडीए से अपना नाता तोड़ लिया है। सोमवार को पार्टी अध्यक्ष अतुल बोरा ने यह घोषणा की।दिल्ली में सोमवार को गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद अतुल बोरा ने बीजेपी से गठबंधन खत्म करने का ऐलान किया। दरअसल, नागरिकता संसोधन विधेयक को लेकर वह बीजेपी से नाराज चल रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान के ठीक एक दिन बाद यह कदम उठाया है। प्रधानमंत्री ने रविवार को कहा था कि उनकी सरकार प्रस्तावित नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2016 को संसद में मंजूरी दिलाने के लिए काम कर रही है। मोदी के इस बयान के विरोध में असम में प्रदर्शनों का दौर भी जारी है। सोमवार को इस विधेयक के विरोध में असम में काला दिवस भी मनाया गया।

विधेयक में क्या है

नागरिकता (संशोधन) विधेयक-2016, नागरिकता अधिनियम-1955 में संशोधन कर देगा। यह विधेयक अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी व ईसाई धर्म के मानने वाले अल्पसंख्यक समुदायों को भारत में छह साल बिताने के बाद नागरिकता देने के लिए लाया गया है। असम गण परिषद इस विधेयक का यह कहकर विरोध कर रही है कि उसके पारित होने के बाद असम की क्षेत्रीय पहचान को नुकसान होगा। अतुल बोरा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के सामने भी अपना विरोध व्यक्त कर चुके हैं।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved