कांग्रेस की पांचवीं और भाजपा की तीसरी सूची जारी

By Independent Mail | Last Updated: Nov 8 2018 7:33PM
कांग्रेस की पांचवीं और भाजपा की तीसरी सूची जारी

इंडिपेंडेंट मेल, भोपाल। कांग्रेस ने गुरुवार को मध्य प्रदेश के प्रत्याशियों की पांचवीं सूची भी जारी कर दी। इससे पहले उसने अपनी दूसरी सूची भी जारी की थी। गुुरुवार को ही भाजपा ने अपनी तीसरी सूची जारी की। 32 उम्मीदवारों की इस सूची में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र आकाश और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की पुत्रवधू कृष्णा गौर के नाम शामिल हैं। भाजपा ने अपने पूर्व मंत्री सरताज सिंह को टिकट नहीं दिया। इससे नाराज होकर वह कांग्रेस में चले गए और पार्टी ने उन्हें होशंगाबाद से टिकट दे दिया। अब वह विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा के खिलाफ मैदान हैं। कांग्रेस ने बुरहानपुर और सिरोंज सीट के अपने प्रत्याशियों को बदल दिया है। दूसरी ओर गोविंदपुरा विधानसभा सीट से भाजपा की कृष्णा गौर के सामने कांग्रेस ने गिरीश शर्मा को उतार दिया है। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह को वारासिवनी से टिकट दिया है।

जानिए सरताज सिंह को

सरताज सिंह मध्य प्रदेश सरकार में पीडब्ल्यूडी मंत्री थे, लेकिन बढ़ती उम्र का हवाला देकर उन्हें हटा दिया गया था। वह होशंगाबाद संसदीय क्षेत्र से 1989 से 1996 तक लगातार तीन चुनाव जीते। 1998 में अर्जुन सिंह को हराया था। 2004 में फिर लोकसभा के लिए चुने गए। वह अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिन की सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे। उन्होंने 2008 के विधानसभा चुनाव में सिवनी मालवा से हजारी लाल रघुवंशी को हराया। 2013 में फिर इसी सीट से चुनाव जीता और मंत्री बने। बाद में भाजपा ने उन्हें मंत्री पद से हटा दिया। हालांकि, उन्हें इस बार टिकट मिलने की उम्मीद थी, लेकिन नहीं मिला, तो वह कांग्रेस में चले गए और उसने उन्हें टिकट भी दे दिया।

अवतार ने की आत्मदाह की कोशिश

जबलपुर के भाजपा नेता अवतार सिंह टिकट न मिलने से पार्टी से इतने नाराज हो गए कि उन्होंने कथित तौर पर आत्मदाह की कोशिश की। अवतार को जबलपुर पश्चिम विधानसभा सीट से टिकट मिलने की पूरी उम्मीद थी, लेकिन उनकी उम्मीदों पर उस समय पानी फिर गया, जब पार्टी ने हरेन्द्रजीत सिंह बब्बू को टिकट दे दिया। इस बात से नाराज अवतार जिले के भाजपा कार्यालय के सामने आत्मदाह करने पहुंच गए। वह इतने परेशान थे कि बेहोश हो गए और बाद में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। आत्मदाह का कारण पूछे जाने पर उनका कहना था कि उन्होंने अपना सारा जीवन जनता की सेवा मे लगाया है। पार्टी अकाली बब्बू को भाजपा की तरफ से लड़ा रही है। इससे सारी सिख कौम का अपमान हुआ है।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved