शिवराज लगातार झूठ बोलकर भ्रम फैला रहे : कमलनाथ

By Independent Mail | Last Updated: May 7 2019 10:59PM
शिवराज लगातार झूठ बोलकर भ्रम फैला रहे : कमलनाथ

एजेंसी, भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस ने अपने वचन-पत्र में किसानों के दो लाख रुपये तक के फसल ऋण माफ करने का वादा किया था, मगर भाजपा और पूर्व मुख्यंमत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार झूठ बोलकर जनता के बीच भ्रम फैला रहे हैं। अपने आवास पर संवाददाताओं से बातचीत में कमलनाथ ने भाजपा और पूर्व मुख्यमंत्री चौहान पर झूठ बोलने और भ्रम फैलाने का आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस ने किसानों का फसल ऋण माफ करने का वादा किया था। उसे पूरा किया जा रहा है। खरगोन के एक किसान का उदाहरण देकर कर्ज माफ न होने की भाजपा की ओर से बात कही जा रही है। उस किसान ने ट्रैक्टर-ट्रॉली के लिए कर्ज लिया था, हमने यह कभी नहीं कहा था कि यह कर्ज माफ होगा। कांग्रेस ने फसल ऋण माफ करने का वादा किया था, ट्रैक्टर-ट्रॉली, मकान, बेटी की शादी के लिए लिया गया कर्ज माफ करने का वादा हमने कभी नहीं किया था। कमलनाथ ने भाजपा पर आरोप लगाया कि भाजपा लगातार प्रदेश की जनता को गुमराह कर रही है। कहा जा रहा है कि चुनाव आयोग से अनुमति की जरूरत नहीं है। वास्तव में चुनाव आयोग के निर्देश आवश्यक हैं, इसका प्रमाण आज मंगलवार को चुनाव आयोग द्वारा कर्जमाफी के लिए जारी किया गया पत्र है। इस पत्र में कहा गया है कि जिन जिलों में चुनाव प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, वहां के 4. 83 लाख किसानों के खातों में राशि हस्तांतरित की जाए।

मैं झूठ नहीं बोलता

भाजपा के आरोपों का जवाब देते हुए कमलनाथ ने कहा कि मैं देर से बोलता हूं, कम बोलता हूं, मगर झूठ नहीं बोलता। कर्जमाफी में दिक्कत है यह मानता हूं। एक किसान के चार बैंक खाते हैं, उसकी जांच की जानी है, सरकार को चुनाव आचार संहिता लगने से पहले जो समय मिला, उसमें यह काम किया जा सकता था क्या? जिन किसानों पर ढाई लाख रुपये का कर्ज है, उनका कर्ज माफ होने के बाद भी प्रमाण-पत्र नहीं दिया जा सकता, क्योंकि कर्ज तो दो लाख रुपये तक का ही माफ हो रहा है।

आधी राशि देने पर मिलेगा प्रमाण-पत्र

सीएम ने कहा कि राज्य में लाखों की संख्या में ऐसे किसान हैं, जिन पर दो लाख रुपये से ज्यादा का कर्ज है, लिहाजा उन्हें ऋण मुक्ति का प्रमाण पत्र नहीं मिल सकता। सरकार ने ऐसे किसानों के लिए प्रावधान किया है। दो लाख रुपये तो सरकार ने माफ कर दिए, और उसके ऊपर की जो राशि है, अगर उसमें से आधी राशि किसान दे देता है तो उसे प्रमाण-पत्र मिलेगा, साथ ही उसे 50 फीसदी का अतिरिक्त लाभ मिल जाएगा। इसके लिए बैंक से वन टाइम सेटेलमेंट (ओटीएस) किया गया है।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved