गढ़चिरौली में नक्सली हमला, 15 कमांडो शहीद

By Independent Mail | Last Updated: May 2 2019 11:13AM
गढ़चिरौली में नक्सली हमला, 15 कमांडो शहीद

एजेंसी, गढ़चिरौली (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों द्वारा एक सुरक्षा वाहन को निशाना बनाकर किए गए बारुदी सुरंग विस्फोट में 15 कमांडो शहीद हो गए और एक नागरिक की मौत हो गई। इस घटना के कुछ घंटे पहले संदिग्ध नक्सलियों ने कुरखेड़ा के दादरपुर गांव में कम से कम 36 सड़क निर्माण वाहनों और एक सड़क निर्माण कांट्रेक्टर की दो साइट कार्यालयों को जला दिया। नक्सलियों ने कुरखेड़ा तहसील में ऐसे समय विस्फोट किया है जब राज्य अपना स्थापना दिवस मना रहा है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, महाराष्ट्र पुलिस के प्रतिष्ठित सी-60 बल के कमांडो ऐसी जगह जा रहे थे, जहां नक्सली गतिविधियों की रिपोर्ट मिली थी।

पेड़ हटाते समय हुआ विस्फोट

सूत्रों के अनुसार, सी-60 बल को रास्ते में जंगल क्षेत्र के सुनसान सड़क पर गिरे हुए पेड़ मिले। जब वे सड़क से पेड़ हटाने के लिए उतरे, विस्फोट हो गया और कमांडों तत्काल घटनास्थल पर ही शहीद हो गए। महाराष्ट्र पुलिस के महानिदेशक सुबोध जयसवाल ने कहा कि 15 कर्मियों को ले जा रहा एक सुरक्षा वाहन बारुदी सुरंग विस्फोट की चपेट में आ गया और इसके साथ ही एक निजी वाहन भी इसकी जद में आ गया। उन्होंने मुंबई में एक प्रेस वार्ता में कहा, सबसे दुखद यह है कि हमने अपने 15 जवानों को खो दिया। जो भी किया जाना चाहिए, वह किया जाएगा। सी-60 एक त्वरित प्रतिक्रिया बल है। राज्य पुलिस प्रमुख ने कहा कि हमले से बलों के नक्सलियों के विरुद्ध अभियान में कोई फर्क नहीं पड़ेगा और इसके साथ ही उन्होंने इसका माकूल जवाब देने की प्रतिबद्धता जताई।

मतदान को लेकर गुस्से में थे नक्सली

जयसवाल ने कहा, हमारे पास इसे संभालने की क्षमता है। हमारा प्रयास यह सुनिश्चित करने का है कि भविष्य में इस प्रकार का कुछ ना हो।

महाराष्ट्र के वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने मीडिया से कहा कि यह एक 'भीषण हादसा' है और यह उस दिन हुआ है जब पूरा राज्य महाराष्ट्र दिवस मना रहा है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हमले पर शोक जताया और सुरक्षा स्थिति के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से चर्चा की। फडणवीस ने कहा, यह जानकार दुखी हूं कि हमारे 16 पुलिसकर्मी आज नक्सलियों के कायराना हमले में शहीद हो गए। मैं डीजीपी और गढ़चिरौली के एसपी के संपर्क में हूं। मुनगंटीवार ने कहा कि नक्सली गढ़चिरौली-चिमुर लोकसभा सीट पर भारी संख्या में लोगों के मतदान करने से गुस्से में थे और इसलिए उन्होंने इस तरह की घटना को अंजाम दिया है। सत्तारूढ़ शिवसेना और विपक्षी पार्टियों समेत सभी पार्टियों ने घटना की निंदा की है।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved