ऐसे करें अपनी स्किन की केयर, नहीं आएगा बुढ़ापा, बना रहेगा ग्लो

By Independent Mail | Last Updated: Apr 3 2019 9:37PM
ऐसे करें अपनी स्किन की केयर, नहीं आएगा बुढ़ापा, बना रहेगा ग्लो

उम्र चाहे कोई भी हो लेकिन जब व्यक्ति अच्छी तरह से विकसित हो जाता है तो वह चाहता है कि उसके चेहरे पर चमक और रौनक हमेशा बनी रहे। अगर आप चाहते हैं कि आपका चेहरा हमेशा ग्लो करे या निखार बना रहे तो आपकी इसकी अच्छी तरह से केयर करने की जरूरत पड़ती है। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि अक्सर 30 की उम्र के बाद चेहरे का ग्लो कहीं खो जा सकता है। जिसे मेनटेन करना मुश्किल लगता है। आज हम आपको ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा गोयल से बात कर के स्किन केयर और ग्लो बढ़ाने की कुछ जरूरी और असरदार टिप्स बता रहे हैं।

25 की उम्र तक ये ब्यूटी टिप्स 

यह उम्र का वह दौर है, जिसमें त्वचा में बदलाव शुरू हो जाते हैं। टीनएज हॉर्मोंस कम होने लगते हैं, बच्चों सी मुलायम त्वचा नहीं रहती और नैचरल ग्लो कुछ कम हो जाता है। इस उम्र की लड़कियों में रक्त-संचार सुचारु होता है, जिस कारण उनकी त्वचा का रंग एक समान रहता है पर इससे ऑयल ज्यादा निकलता है। इसी उम्र में पिंपल्स, व्हाइट और ब्लैकहेड्स की समस्या होने लगती है। 25 की उम्र के बाद त्वचा पर रूखापन आना शुरू हो जाता है।

क्या करें : त्वचा को साफ रखना बेहद ज़रूरी है। इसके लिए सीटीएम यानी क्लींजि़ंग, टोनिंग और मॉयस्चराइजि़ंग करना न भूलें। हफ्ते में एक बार त्वचा एक्सफोलिएट ज़रूर करें। इस उम्र में अकसर एक्ने की समस्या हो जाती है, जिससे बचने के लिए डीप क्लींजि़ंग करवाना सही रहता है। इसके अलावा इस उम्र में नरिशिंग स्किन ट्रीटमेंट लें। इसमें नरिशिंग जेल और क्रीम के ज़रिये त्वचा को क्लीन किया जाता है, जिससे त्वचा मुलायम बनती है और इसकी नमी भी बरकरार रहती है। यह ट्रीटमेंट उन लड़कियों के लिए फायदेमंद है, जिनकी त्वचा में रूखापन आने लगता है।

25 के बाद ये टिप्स अपनाएं

इस उम्र तक आते-आते बदलती जीवनशैली का असर त्वचा पर साफ दिखने लगता है। यही वह समय है, जब उम्र त्वचा पर अपने निशान छोडऩे लगती है। इस उम्र में आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स के अलावा होंठों और माथे पर झुर्रियां पडऩे लगती हैं। त्वचा में ढीलापन आने लगता है और वह रूखी होने लगती है। इस उम्र में चेहरे पर टी-ज़ोन बनने लगता है यानी फोरहेड, नोज़ और चिन की त्वचा तैलीय व बाकी हिस्से की त्वचा शुष्क होने लगती है। 

क्या करें : इस समय त्वचा को नमी देने के लिए रोज़ाना नाइट क्रीम का इस्तेमाल करें। 30 की उम्र में मुंह, गर्दन व आंखों के आसपास की त्वचा पर झुर्रियों का प्रभाव दिखने लगता है। इसलिए इस उम्र में त्वचा में कसावट लाने की ज़रूरत होती है, जिसके लिए समय-समय पर स्क्रबिंग, फेशियल्स या क्लीन-अप जैसे ब्यूटी ट्रीटमेंट्स लेने की आवश्यकता पड़ती है। इसके अलावा नियमित रूप से सन-ब्लॉक क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए। एडवांस ट्रीटमेंट के लिए विजि़बल रेडियंस लेना सही रहता है। इसमें लैवेंडर ऑयल से युक्त क्रीम से मसाज की जाती है, जिससे त्वचा साफ हो जाती है। इसके अलावा ऑक्सीजेनेशन करवाना भी बेहतर रहेगा, इससे नैचरल ग्लो मिलेगा। 30 की उम्र के बाद ग्लाइकोलिक स्किन पील करवाने से एज स्पॉट्स और पिग्मेंटेशन को दूर किया जा सकता है। इससे डेड स्किन रिमूव हो जाती है।

35 के बाद ये टिप्स अपनाएं

इस उम्र में स्किन का खयाल न रखा जाए तो फाइन लाइन्स और रिंकल्स की समस्या शुरू हो जाती है। झुर्रियां, सन स्पॉट्स व एज स्पॉट्स इस उम्र में दिखने लगते हैं। हॉर्मोंस के असंतुलन और ड्राई स्किन के कारण कुछ स्त्रियों को 40 के बाद मुंहासों की समस्या भी हो जाती है। इसलिए उन्हें नज़रअंदाज़ करने की गलती न करें।

क्या करें : एजिंग की प्रक्रिया से लडऩे के लिए स्किन रिनुअल ट्रीटमेंट आज़माएं। इसके अलावा त्वचा में कसावट लाने के लिए टाइटनिंग पैक लगाएं, इससे काफी हद तक कसावट लाई जा सकती है। ग्लाइकोलिक स्किन पील कराएं। कोलेजन फेशियल लेने से त्वचा पुनर्जीवित हो जाएगी। ब्रेस्ट, शोल्डर, नेक और चेहरे पर पिग्मेंटेशन को दूर करने के लिए क्लैरिटी ट्रीटमेंट करवाएं।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved