फर्जी दस्तावेजों के जरिए बांग्लादेशी नागरिक ने बनवाया भारतीय पासपोर्ट

By Independent Mail | Last Updated: Mar 24 2019 6:31AM
फर्जी दस्तावेजों के जरिए बांग्लादेशी नागरिक ने बनवाया भारतीय पासपोर्ट

बसिया में फर्जी तरीके से चला रहा था क्लीनिक

गुमला। बांग्लादेशी नागरिक द्वारा फर्जी दस्तावेज के आधार पर भारतीय पासपोर्ट बनाने का एक बड़ा मामला प्रकाश में आया है। जानकारी के अनुसार सुकदेव बरई ने गुमला जिले के थाना चौक बसिया के फर्जी पते पर भारतीय पासपोर्ट संख्या पी. 99739661 बना लिया है। इस बात का खुलासा तब हुआ जब इमीग्रेशन अथॉरिटी प. बंगाल द्वारा फर्जी पासपोर्ट के आधार पर देश छोड़कर जाने के दौरान पकड़े जाने पर सुकदेव से पूछताछ की गई। इस मामले में सुकदेव ने बसिया पुलिस के समक्ष स्वीकार किया है कि इनके पिता का वास्तविक नाम सुरेंद्रनाथ बरई है और वह एक बांग्लादेशी नागरिक है। इसका स्थाई पता ग्राम बारूईया,पोस्ट कालीबारी, 8110 कोटली पारा, जिला गोपालगंज (बांग्लादेश) है। वर्तमान में सुकदेव बसिया स्थित उपरोक्त पते पर रहते हुए अवैध रूप से न केवल एक फर्जी क्लिनिक का संचालन करता है बल्कि फर्जी कागजात के आधार पर जन्म प्रमाण पत्र, आधार कार्ड आदि प्रस्तुत कर भारतीय पासपोर्ट बनवा लिया है।

मामला दर्ज, पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी

इस संबंध में गुमला के एसपी के निर्देश के आलोक में थाना प्रभारी बसिया ने जब मामले की जांच की तब मकान मालिक राज कपूर नायक द्वारा दिए गए प्रतिवेदन में इस बात का उल्लेख किया गया है कि सुखदेव बरई के बड़े भाई विपुल बरई को 2013 में मकान भाड़े पर दिया था। जबकि इसे आधार बनाते हुए बसिया पंचायत की मुखिया पुष्पा देवी एवं पंचायत सेवक ललित सिंह को धोखे में रखकर सुकदेव ने जन्म प्रमाण-पत्र और स्थानीय निवास का प्रमाण ले लिया। प्रारंभिक जांच एवं उपरोक्त तथ्यों के आधार पर धारा 420/467/468/471/120(B) एवं भादवि 12(1)/12(1A) पासपोर्ट एक्ट 1967 के तहत सुकदेव बरई एवं उसके बड़े भाई बिपुल बरई, तत्कालीन पंचायत सेवक ललित सिंह एवं बसिया पंचायत मुखिया पुष्पा देवी पर मामला दर्ज कर कारवाई की जा रही है। समाचार लिखे जाने तक इस मामले में मुख्य आरोपी सुकदेव पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved