रेप के आरोपी चाचा को जिंदा जलाने का फरमान

By Independent Mail | Last Updated: Oct 25 2018 10:59PM
रेप के आरोपी चाचा को जिंदा जलाने का फरमान

एजेंसी, रांची। झारखंड के चाईबासा के मंझारी थाना क्षेत्र में पंचायत ने एक तुगलकी फरमान सुनाया है। 13 साल की मासूम भतीजी को उसके ही चाचा ने हवस का शिकार बनाया। इसकी वजह से वह गर्भवती हो गई। मामले की जानकारी होने पर गांववालों ने महापंचायत बुलाई। इसके बाद महापंचायत ने 28 साल के चाचा को दुष्कर्म का आरोपी करार देते हुए पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया। इसके बाद आरोपी और पीड़िता को जिंदा जलाने का तुगलकी फरमान भी सुना दिया। इस महापंचायत में 'हो आदिवासी समाज युवा महासभा' के पदाधिकारी और ग्रामीण मौजूद थे। बताया जाता है कि यह महापंचायत इसी महासभा ने बुलाई थी। महापंचायत ने दुष्कर्म के आरोपी चाचा को बुलाया था, जिसने अपना गुनाह कबूल कर लिया। इसी वजह से उसे महापंचायत में सजा सुनाई। घटना की जानकारी मिलने पर एसपी क्रांति कुमार ने एसडीपीओ अमर कुमार पांडेय को जांच के आदेश दिए हैं। एसपी का कहना है कि यह काफी गंभीर मामला है। इसकी जांच की जा रही है। आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गांववालों के मुताबिक आरोपी रोबिन अपने बड़े भाई के यहां रहता था। इसी बीच आरोपी छठी कक्षा में पढ़ने वाली 13 साल की मासूम भतीजी को डरा-धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया करता था। इसकी वजह से वह गर्भवती हो गई। मामला सामने के बाद जो पंचायत बुलाई गई थी, उसमें आरोपी पेश नहीं हुआ था। इसके बाद दुबारा पंचायत बुलाई गई। जानकारी के अनुसार आदिवासी हो समाज युवा महासभा के जिलाध्यक्ष गब्बरसिंह हेम्ब्रम ने फैसला पढ़कर सुनाया था। इस फैसले में कहा गया कि कोई भी शख्स समुदाय से बढ़कर नहीं होता है। इस तरह की घटना दोबारा घटित न हो इसके लिए 'हो' परंपरा और रीति रिवाजों के अनुसार दोनों को जिंदा जलाने का फैसला किया जाता है। पंचों ने भी इस सामाजिक फैसले का समर्थन किया।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved