तीन बार के विधायक रहे दीनानाथ पांडेय का निधन

By Independent Mail | Last Updated: Jan 11 2019 8:49PM
तीन बार के विधायक रहे दीनानाथ पांडेय का निधन
  • टीएमएच में ली अंतिम सांस, लंबे समय से थे बीमार

इंडिपेंडेंट मेल, जमशेदपुर। तीन बार जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा से विधायक रहे दीनानाथ पांडेय का 85 साल की उम्र में निधन हो गया। पांडेय लंबे समय से बीमार थे और टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) में उनका इलाज चल रहा था। शुक्रवार सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली। फिलहाल, उनका शव टीएमएच के शीतगृह में रखा गया है। 13 जनवरी को बिरसानगर स्थित आवास से उनकी अंतिम यात्रा भुइयांडीह स्थित सुवर्णरेखा बर्निंग घाट के लिए निकलेगी जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। पांडेय के निधन पर मुख्यमंत्री रघुवर दास, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा समेत अन्य गणमान्यों ने शोक जताया है।

अपने आदर्शों के लिए रखे जाएंगे याद

दीनानाथ पांडेय दीना बाबा के नाम से मशहूर थे। उनके निधन पर मुख्यमंत्री रघुवर दास, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, मंत्री सरयू राय, पूर्व विधायक अमरेंद्र प्रताप सिंह समेत झारखंड के कई मंत्रियों, विधायकों और विभिन्न दलों के नेताओं ने शोक व्यक्त किया है। रघुवर दास ने कहा कि मैंने एक अभिभावक खो दिया है। दीनानाथ पांडेय का आशीर्वाद हमेशा मुझे मिलता रहा था। भाजपा को हमेशा उनकी कमी खलेगी। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री और लोकसभा चुनाव के लिए बने भाजपा मेनिफेस्टो कमेटी के सदस्य अर्जुन मुंडा ने कहा कि वे उनके निधन की खबर सुनकर मर्माहत हैं। दीनानाथ पांडेय अपने आदर्शों और राजनीति में शुचिता के लिए हमेशा याद रखे जाएंगे।

1977 में पहली बार पहुंचे थे विधानसभा

दीनानाथ पांडेय पहली बार 1977 में जनता पार्टी के टिकट से चुनाव लड़कर विधानसभा पहुंचे थे। इसके बाद भाजपा के टिकट पर 1980 और 85 में चुनाव लड़कर विधानसभा पहुंचे। अगली बार 1990 के विधानसभा चुनाव में उन्हें कांग्रेस के प्रत्याशी डी नरीमन के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। 1995 में इसी सीट पर भाजपा ने मजदूर नेता और वर्तमान मुख्यमंत्री रघुवर दास को टिकट दे दिया था, तो दीनानाथ निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतरे थे। फिर 1996 के लोकसभा चुनाव में दीनानाथ पांडेय शिवसेना के टिकट पर चुनाव लड़े।

 

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved