कांग्रेस व झामुमो ने आदिवासियों को वोट बैंक के रूप में किया इस्तेमाल...

By Independent Mail | Last Updated: Oct 16 2018 9:47PM
कांग्रेस व झामुमो ने आदिवासियों को वोट बैंक के रूप में किया इस्तेमाल...

मीडिया से बातचीत के दौरान बोलीं मंत्री डाॅ. लुईस मरांडी

एजेंसी, दुमका। झारखंड की समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेत्री डाॅक्टर लुईस मरांडी ने कांग्रेस व झामुमो पर आदिवासियों का वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। डाॅ. मरांडी और भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विधायक राजकुमार पाहन ने संयुक्त पत्रकार सम्मेलन में दावा किया है कि भाजपा की केन्द्र और राज्य सरकार आदिवासी, अल्पसंख्यक, पिछड़े, दलित और गरीबों को समर्पित सरकार है और उनके आर्थिक उत्थान के साथ उन्हें उनका हक और सम्मान दिलाने के लिए प्रतिबद्ध होकर कार्य कर रही है। भाजपा नेताओं ने कहा कि 70 वर्षों तक कांग्रेस और करीब 40 वर्षों तक झामुमो जैसी पाटिर्यों ने आदिवासियों की भावना के साथ खिलवाड़ किया है और इस अवधि में आदिवासियों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करते रहे है। पिछले चार वर्षों से आदिवासी, पिछड़ा, दलित व गरीबों काे समर्पित भाजपा नीत केन्द्र और राज्य सरकार गरीबों के आर्थिक विकास और उत्थान के लिए कार्य कर रही हैं। इससे विपक्षी हतोत्साहित हो रहे हैं।

गांवों के विकास के लिए काम कर रही सरकार

उन्होंने दावा किया कि जनजातीय समाज, दलित व समाज के वर्षों से शोषित वर्ग के लोगों का आर्थिक उत्थान और अपेक्षित विकास करने के साथ उन्हें उनका हक व सम्मान नहीं दिला सकती है। दोनों नेताओं ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में आदिवासी समुदाय का आर्थिक उत्थान और विकास की दिशा में त्वरित गति से कार्य कर रही है। इस मौके पर भाजपा के जिलाध्यक्ष निवास मंडल, पूर्व विधायक सुनील सोरेन सहित पार्टी के कई प्रमुख नेता भी उपस्थित थे। डाॅ. मरांडी ने बातचीत के दौरान कहा कि राज्य सरकार ने आदिवासी समुदाय के अमर शहीदों के गांवों के समेकित विकास के लिए शहीद आदर्श गांव निर्माण योजना का शुभारम्भ किया है। इस योजना के तहत राज्य के अमर शहीदों के गांवों में रहने वाले सभी परिवार को पक्का मकान, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य और सिंचाई की समुचित व्यवस्था कर गांव का समेकित विकास किया जायेगा।

शहीदों की याद में होगी स्मृति संग्रहालय की स्थापना

मंत्री ने बताया कि अमर शहीद बिरसा भगवान की प्रतिमा में उनकी मातृभूमि के साथ राज्य के जाहेर थान व आदिवासी समाज के अन्य आस्था वाले स्थलों की मिट्टी का संग्रह कर उसमें समाहित किया जायेगा। इसके लिए पार्टी की अनुसूचित जनजाति मोर्चा के तत्वावधान में 23 अक्टूबर से कलश यात्रा का शुभारम्भ किया जायेगा, जिससे भगवान बिरसा की प्रतिमा के निर्माण में आम लोगों की सीधी भागीदारी रहे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी का उद्देश्य आदिवासी समाज के अमर शहीदों के गौरवपूर्ण इतिहास को सम्मान दिलाना है। डाॅ. मरांडी ने इसी क्रम में पूछने पर बताया कि राज्य सरकार द्वारा राज्य की उपराजधानी दुमका में भी अमर शहीद सिदो-कान्हु,चांद,भैरव,फूलो-झानो की स्मृति में संग्राहलय स्थापित करने से संबंधित एक प्रस्ताव केन्द्र सरकार के पास भेजा गया है। इसके निर्माण के लिए जमीन की तलाश की जा रही है। राज्य सरकार द्वारा शीघ्र ही इसे मूर्त रूप दिया जायेगा।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved