स्किन के हिसाब से चुनें सही मॉइश्चराइजर

By Independent Mail | Last Updated: Sep 29 2018 11:49PM
स्किन के हिसाब से चुनें सही मॉइश्चराइजर

अक्सर ऐसा होता है कि हमारे हाथों में जो भी मॉइश्चराइजर आता है, हम उसे ही यूज कर लेते हैं। इसकी वजह से स्किन पर ब्लेमिशेज, पिंपल्स जैसी प्रॉब्लम्स हो जाती हैं। हेल्दी स्किन के लिए मॉइश्चराइजर एक बेसिक जरूरत है, इसलिए जरूरी है कि यह हमारी स्किन के अकॉर्डिंग ही हो।

डार्क ब्लश शेड्स को न

ब्राइट कलर के शेड्स आपकी स्किन टोन के साथ मैच करके आपको कॉम्प्लीमेंट देते हैं। वहीं डार्क शेड्स आपको उम्रदराज दिखाते हैं, इसलिए डार्क शेड्स के बल्श इस्तेमाल से बचें।

मस्कारा बढ़ाता है खूबसूरती

आंखों के मेकअप का एक खास हिस्सा है, पलकों पर लगा मस्कारा। इससे आंखों की खूबसूरती और बढ़ जाती है। ऊफर की पलकों पर लगा मस्कारा जहां आपको ताजगी भरा लुक देता है, वहीं नीचे की पलकों पर लगा मस्कारा आपको उम्रदराज दिखा सकता है।

सॉफ्ट आईलाइनर

मोटा और लंबा आईलाइनर अगर आपकी पसंद है तो इसे अब छोड़ दें। आईलाइनर को हल्का और सॉफ्ट टच दें। इससे आपका लुक फ्रेश और यंग लगेगा। मोटा आईलाइनर आपको आपकी उम्र से ज्यादा दिखाने का काम करता है।

न्यूड कलर को हां

डार्क कलर के आईलाइनर को आंखों की लोअरलिड में लगाने से बचें। इससे आपकी आंखें थकी-थकी से लगने लगती हैं। इनकी जगह आप व्हाइट या न्यूड कलर के शेड्स का इस्तेमाल कर सकती हैं। फर्क आपके सामने होगा।

फाउंडेशन का ख्याल

मेकअप का खास हिस्सा है फाउंडेशन। इसके इस्तेमाल में ज्यादातर लेडीज गलतियां करती हैं। फाउंडेशन हमेशा अपनी स्किन टोन के हिसाब से करें जिससे मेकअप की शुरूआत में गलती होने की आशंका खत्म हो जाए। फाउंडेशन के ज्यादा इस्तेमाल से बचें।

ऑइली स्किन

आॅइली स्किन सबसे ज्यादा सेंसिटिव होती है और कई बार प्रॉब्लेमैटिक भी हो जाती है, इसलिए इस स्किन के लिए बहुत ही केयरफुली मॉइश्चराइजर का सेलेक्शन करना चाहिए, लेकिन अक्सर हम इसे अवॉइड कर देते हैं।

ये यूज करें

आॅयली स्किन के लिए सिर्फ वॉटर बेस्ड या जेल बेस्ड मॉइश्चराइजर ही सिलेक्ट करने चाहिए। ये स्किन नेचुरली आॅयल सेक्रीट करती है इसलिए इस टाइप की स्किन के लिए आॅयली मॉइश्चराइजर अवॉइड करना चाहिए।

नॉर्मल स्किन है तो रहें टेंशन फ्री

नॉर्मल स्किन बहुत ही क्लीन और क्लीयर टेक्सचर वाली होती है और ये प्रॉब्लेमैटिक भी नहीं होती है। इसकी खास बात ये है कि इसकी ज्यादा केयर करने की भी जरूरत नहीं होती है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप कोई भी मॉइश्चराइजर यूज करें।

ये यूज करें

नॉर्मल स्किन है तो मॉइश्चराइजर सही क्वॉन्टिटी में यूज करें। साथ ही मॉइश्चराइजर ऐसा हो जो न ज्यादा आॅयली हो और न ही पूरी तरह से जेल बेस्ड। इस टाइप की स्किन पर नॉर्मल लोशन भी अच्छे से काम करता है।

ड्राई स्किन की करें प्रॉपर केयर

ड्राई स्किन में पहले से ही मॉइश्चर की कमी होती है, जिसकी वजह से अक्सर स्किन बहुत स्ट्रेच भी करती है। इस स्किन की अगर प्रॉपर केयर न की जाए तो इसमें क्रैक्स भी पड़ने लगते हैं। साथ ही इसमें रिंकल्स भी जल्दी पड़ते हैं।

ये यूज करें

इस स्किन के लिए आॅयल बेस्ड मॉइश्चराइजर्स परफेक्ट रहते हैं क्योंकि ये उतनी ही मॉइश्चर प्रोवाइड करते हैं, जितनी स्किन को जरूरत होती है। अगर स्किन ज्यादा ड्राई हो तो रेग्युलर इंटरवल्स में मॉइश्चराइजर यूज करें।

इनका यूज भी है स्किन के लिए बेस्ट

फेस के लिए कई तरह के मॉइश्चराइजिंग एजेंट्स मार्केट में मौजूद हैं। जानिए क्या है इनका यूज और कैसे आप इनको यूज कर सकते हैं।

फेस मिस्ट

ये स्प्रिट्जर्स वॉटर बेस्ड सॉल्यूशंस होते हैं, जिनमें विटामिंस और फ्रेगरेंस भी होती है। वैसे तो ये कंप्लीट मॉइश्चर प्रोवाइड नहीं करते हैं लेकिन ये आपके कॉप्लेक्शन को फ्रेश जरूर रखते हैं। इनफैक्ट, अगर आपने मेकअप किया है और आप ट्रैवल कर रही हैं तो इसे स्प्रे करके इंस्टेंटली फ्रेश लुक पा सकती हैं।

सीरम

अगर आपको कॉम्प्लेक्शन से इश्यू है जैसे रिंकल्स, डार्क स्पॉट्स, डलनेस तो सिरम काफी बेनिफीशियल होता है। यह एक लाइटवेट अब्जॉर्बेंट प्रोडक्ट होता है जो स्किन को अंदर से मॉइश्चराइज करता है। लेकिन ये भी आपको अपनी स्किन के अकॉर्डिंग यूज करना चाहिए।

स्किन आॅइल्स

मार्केट में कई आयुर्वेदिक आॅइल्स अवेलेबल हैं जो स्किन की बहुत सी प्रॉब्लम्स से दूर रखते हैं। इन आॅइल्स की खासियत ये है कि इन्हें किसी भी स्किन पर यूज किया जा सकता है। ये पूरी तरह से नेचुरल होते हैं और सेंसिटिव से लेकर एजिंग स्किन के लिए फायदेमंद होते हैं।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved