पशु बीमा क्लेम के लिए करना पड़ेगा आंख स्कैन

By Independent Mail | Last Updated: Feb 1 2019 11:57PM
पशु बीमा क्लेम के लिए करना पड़ेगा आंख स्कैन

एजेंसी, अहमदाबाद। फेशियल रिकग्नीशन यानी कोई मशीन आपके चेहरे को स्कैन कर आपकी पहचान कर ले। वर्तमान युग के स्मार्टफोन में यह तकनीक बेहद आम है, जिसमें मोबाइल फोन का उपयोग वही कर सकता है, जिसके चेहरे की पहचान उस फोन ने की हुई है। पशुओं का बीमा करने वाली बीमा कंपनियों के लिए यह तकनीक वरदान साबित होने वाली है। असल में पशुओं की पहचान का कोई पुख्ता टिकाऊ जरिया नहीं होने की वजह से बीमा कंपनियां कई फर्जी दावों के भुगतान को भी मजबूर थीं। अहमदाबाद स्थित एक कंपनी की मानें, तो पशु बीमा कंपनियों को अब फर्जी दावे पकड़ लेने का औजार मिल गया है। अहमदाबाद की कंपनी मंत्रा जल्द ही बीमा कंपनियों के लिए ऐसे उपकरण पेश करने जा रही है, जिनमें फेशियल रिकग्नीशन और आंख की पुतलियों की स्कैनिंग के जरिये मवेशियों की पहचान स्थापित की जा सकेगी। कंपनी का दावा है कि बीमा के मामले में ऐसी एकीकृत डिवाइस प्रणाली का इस्तेमाल अब तक नहीं हुआ है।

पहचान होगी पुख्ता

किसानों की आमदनी दोगुनी करने की योजना में पशुपालन का महत्व काफी बढ़ गया है और पशु धन के बीमा में बढ़ोतरी के बीच फर्जी दावों के मामले भी काफी बढ़ गए हैं। बीमा कंपनियां हालांकि अब इस तरह के फर्जी दावों से आसानी से पार पा लेंगी। मंत्रा के इस उत्पाद से एक ओर जहां फर्जी दावे के मामलों में गिरावट आएगी, वहीं भविष्य में पशुओं की पहचान और वन्यजीव संरक्षण में भी मदद मिलेगी।

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved