राबड़ी ने मोदी को 'जल्लाद' कहा, भाजपा, जदयू भड़के

By Independent Mail | Last Updated: May 8 2019 9:53PM
राबड़ी ने मोदी को ''जल्लाद'' कहा, भाजपा, जदयू भड़के

विवादित बयान से गर्माई बिहार की सियासत

पटना। बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी ने बुधवार को एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और उन्हें 'जल्लाद' कहा है। इधर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता दल (युनाइटेड) ने इस बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि राजद नेताओं के ऐसे ही बयानों के कारण बिहार बदनाम हुआ है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को 'दुर्योधन' कहे जाने के संबंध में पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब में राबड़ी ने कहा, उन्होंने (प्रियंका) 'दुर्योधन' बोलकर गलत किया। दूसरी भाषा बोलनी चाहिए थी। वो सब तो जल्लाद हैं, जल्लाद। जो जज और पत्रकार को मरवा देते हैं, उठवा लेते हैं, ऐसे आदमी का मन और विचार कैसे होंगे, खूंखार होंगे। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और जनता दल (युनाइटेड) के नेताओं को 'नाले का कीड़ा' बताया। राबड़ी देवी ने कहा, प्रधानमंत्री जिस तरह की भाषा अपना रहे हैं, नाली के कीड़े हैं सब। जद (यू) और भाजपा वाले सब नाली के कीड़े हैं। साल 2014 में वो विकास लेकर आए थे और देश का विनाश करके जा रहे हैं।

वरिष्ठ नेता केसी ने की कड़ी निंदा

राबड़ी के इस बयान को लेकर बिहार की सियासत गर्म हो गई है। भाजपा और जद (यू) ने राबड़ी के इस बयान की कड़ी निंदा की है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा, चुनाव में राजद अपनी हार को देखते हुए तिलमिला गया है। इस कारण ऐसे बयान दिए जा रहे हैं। ऐसे बयानों की राजनीति में कोई जगह नहीं। जद (यू) के वरिष्ठ नेता और प्रधान सचिव केसी त्यागी ने राबड़ी के इस बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा, राजद के कुकृत्यों और ऐसे बयानों से ही बिहार देश और विदेशों में बदनाम हुआ है। बयान का जवाब देने के लिए भी मेरे पास उपयुक्त शब्द नहीं हैं। उल्लेखनीय है कि राबड़ी देवी ने मंगलवार को भी इशारों ही इशारों में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को नरभक्षी कहा था। राबड़ी ने ट्वीट किया था, "बिहार आते ही तड़ीपार की जीभ दांतों से बाहर निकलकर भटकने लगती है। नरभक्षियों को पता नहीं क्यों पाकिस्तान से प्यार है? बिहार में हार देख पाकिस्तान में पटाखे फोड़ने की बात करता है। 2015 में नीतीश के मुख्यमंत्री बनने की खुशी में फोड़वा रहा था। बेशर्म लोग काम के नाम पर वोट क्यों नहीं मांगते?

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved