उत्तर बिहार में चमकी बुखार का कहर, 60 मरे

By Independent Mail | Last Updated: Jun 13 2019 9:01AM
उत्तर बिहार में चमकी बुखार का कहर, 60 मरे

  मुजफ्फरपुर , एजेंसी :   उत्तर  बिहार में बीते 11 दिनों में चमकी बुखार, जापानी इंसेफलाइटिस, दिमागी बुखार, एईएस या एक्टूड इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम नामक बीमारी से  मरने वालों की संख्या 60 हो गई है. वहीं, नए भर्ती बच्चों को मिलकर 154 बच्चे इस बीमारी से पीड़ित पाये गये हैं. पीड़ितों व मौत की बढ़ रही संख्या के मद्देनजर पटना मुख्यालय में उच्चस्तरीय बैठक कर समाधान खोजा रहा है. इस बीमारी के बारे में तरह-तरह की अफवाहें भी फैल रही हैं. ऐसे में इस बीमारी के बारे में जानना और इसके लक्षण पहचानना जरूरी है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग के निदेशक प्रमुख डॉ. आरडी रंजन, राज्य वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल अधिकारी डॉ. एमपी शर्मा व राज्य जेई-एईएस के नोडल समन्वयक संजय कुमार ने एसकेएमसीएच पहुंच पूरी स्थिति का जायजा लिये. मुजफ्फरपुर जिले में पिछले एक महीने में चमकी बुखार से करीब 48 मासूमों की जान जा चुकी है. रोगियों से हॉस्पिटल के पीआईसीयू यूनिट वार्ड फुल हैं. चमकी बुखार/ जापानी इंसेफलाइटिस (दिमागी बुखार) या एईएस (एक्टूड इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) से पीड़ित बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है.

डॉक्टरों के मुताबिक़, उत्तरी बिहार के सीतामढ़ी, शिवहर, मोतिहारी और वैशाली के कई इलाकों में इस समय इस बीमारी का कहर देखने को मिल रहा है. इस सिलसिले में बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने कहा है कि दिमागी बुखार की वजह से इतने ज्यादा बच्चों की मौत एक गंभीर विषय है. इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग के सचिव भी इस पर कड़ी निगरानी बनाए हुए हैं. उनके मुताबिक, सभी चिकित्सकों को इस मामले में अलर्ट रहने के आदेश जारी किए जा चुके हैं.

image
Copyrights @ 2017 Independent NewsCorp (P) Ltd., Bhopal. All Right Reserved